Jeev-jantuon Par Adharit Pauranik Kathayen - 2
जीव–जन्तुओं पर आधारित पौराणिक कथाएं (भाग-2)


Jeev-jantuon Par Adharit Pauranik Kathayen - 2जीव–जन्तुओं पर आधारित पौराणिक कथाएं (भाग-2)

Author: Santhini Govindan सान्थिनि गोविन्दन
Format: Paperback
Language: Hindi
ISBN: 9788178061894
Code: 9387B
Pages: 70
Price: Rs. 125.00

Publisher: Unicorn Books
Usually ships within 15 days


Add to Cart

Recommend to Friend

Download as PDF







भारतीयों की प्राचीनकाल से ही यह मान्‍यता रही है कि पशु–पक्षी उनके जीवन का अभिन्‍न अंग हैं. अपने इसी प्रेम की अभिव्‍यक्ति वे उनके संरक्षण और देख–रेख में करते हैं. हिन्‍दुओं के देवी–देवताओं का वाहन या तो कोई पशु है या फिर कोई पक्षी. ये वाहन समय आने पर उन्‍हें उनके लोकों से अन्‍य लोकों का भ्रमण ही नहीं कराते, अपितु अपने दिव्‍य गुण–संपन्‍न स्‍वामियों के जीवन के अन्‍य संदर्भों में भी इनकी महत्‍वपूर्ण भूमिका है. ये युद्ध भूमि में जहां शत्रुओं का संहार करते हैं, वहीं अपने स्‍वामियों के भक्‍तों की श्रद्धा–भक्ति की परीक्षा भी लेते हैं. प्रस्‍तुत कथासंग्रह में निम्‍नलिखित कहानियां हैं:
• जटायु और सम्पाति
• राजा शिवि का संकल्प
• गरुड़ की कहानी
• सुरपद्म कैसे बना मयूर
• हनुमान और मकरवज
• धेनुकासुर का वध
• श्री विष्णु द्वारा गजेन्द्र की रक्षा
• सुग्रीव–बालि का युद्ध

इन कहानियों में ज्ञान के साथ–साथ रोचकता, मनोरंजन और लोककथाओं व पुराणों की कथाओं का समन्‍वय है, जो बच्‍चों का ही नहीं, परिवार के प्रत्‍येक सदस्‍य का मनोरंजन करेगी.

^ Top


Post   Reviews

Please Sign In to post reviews and comments about this product.

About Unicorn Books

Hide ⇓

Unicorn Books publishes an extensive range of books that are both affordable and high-quality.

^ Top