Panchatantra Ke Moti - 2
पंचतंत्र के मोती (संकलन-2)


Panchatantra Ke Moti - 2पंचतंत्र के मोती  (संकलन-2)
Out of Stock

Author: Santhini Govindan सांथिनी गोविन्दन
Format: Paperback
Language: Hindi
ISBN: 9788178060804
Code: 9287B
Pages: 56
List Price: Rs. 60.00
Price: Rs. 42.00   You Save: Rs. 18.00 (30.00%)

Published: 1970
Publisher: Unicorn Books
Usually ships within 5 days


Recommend to Friend

Download as PDF






Related Books

Earth & Mars
Earth & Mars
R. K. Murthi
Rs. 96.00
Rs. 57.60
Endangered Animals Of The World
Endangered Animals Of The World
Vikas Khatri
Rs. 96.00
Rs. 67.20
Eesap Ki Kathaien
Eesap Ki Kathaien
Prof. S. K. Prasoon प्रो. श्रीकान्त प्रसून
Rs. 48.00
Rs. 33.60
Gopal Bhand Ke Anya Kisse
Gopal Bhand Ke Anya Kisse
Swapna Datta स्वप्ना दत्ता
Rs. 96.00
Rs. 86.40
Gopal Bhand Ke Kisse
Gopal Bhand Ke Kisse
Swapna Datta स्वप्ना दत्ता
Rs. 96.00
Rs. 86.40
Enchanting Fairy Tales
Enchanting Fairy Tales
Divya Jain
Rs. 75.00
   


पंचतंत्र की कहानियां बहुत पुराने समय से चली आ रही हैं, जो मूलतः संस्कृत में लिखी गई थीं. ऐसा कहा जाता है कि एक राजा थे, उनके चारों पुत्र नासमझ थे. राजा ने एक दिन विद्वान पंडित विष्णुशर्मा को उनको शिक्षा देने के लिए नियुक्त किया. पंडित विष्णुशर्मा ने उन्हें पशु-पक्षियों की कहानियों के माध्यम से जीवन में विवेकपूर्ण आचार-व्यवहार, आत्म-विश्वास, मैत्रीभाव, सूझ-बूझ से नीतिवान बनने और अपने बलशाली दुश्मन को परास्त करने की कला सिखाई. बाद में इन्हीं कथाओं का संकलन पंचतंत्र के नाम से प्रसिद्ध हुआ.

^ Top


Post   Reviews

Please Sign In to post reviews and comments about this product.

About Unicorn Books

Hide ⇓

Unicorn Books publishes an extensive range of books that are both affordable and high-quality.

^ Top